Advertorial

घररुझान वालेश्रवण

प्रकाशन: 1 जनवरी 2019

जरूरत है: एक आधुनिक श्रवण उपकरण के परीक्षण हेतु 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगो की!

?   पेशकश सीमित अवधि के लिए: 100% मुफ्त श्रवण यंत्र परीक्षण

अपनी योग्यता जाँचने हेतु अपनी आयु का चयन करें:

ध्यान दें: प्रतीक्षा न करें और मौका ना गवाएं! अभी पंजीकरण करें, केवल 250 स्थान शेष

बधिरता दुनिया में सबसे आम स्वास्थ्य मुद्दों में से एक है। मेडिकल साइंसेज संस्थान के एक अध्ययन के अनुसार बधिरता समाज के एक उच्च प्रतिशत को प्रभावित करती है। भारत में, 63 करोड़ लोग सार्थक रूप से श्रवण शक्ति  की कमी से पीड़ित हैं।

भारत में श्रवण शक्ति की कमी का मुख्य कारण उम्र से संबंधित है। 60 वर्ष से अधिक उम्र के 60% से अधिक लोग श्रवण शक्ति की कमी से पीड़ित हैं श्रवण शक्ति की कमी की सीमा कुछ स्वर न सुन पाने से संवाद में कठिनाई होने तक होती है। श्रवण शक्ति की हानि अचानक से या धीरे-धीरे हो सकती है, और युवा लोग और बुजुर्ग दोनों प्रभावित होते हैं। श्रवण शक्ति की कमी अकसर पति-पत्नी, परिवार के सदस्यों और दोस्तों को भी प्रभावित करती है।

6 में से 1 व्यक्ति को श्रवण शक्ति की कमी का अनुभव होता है लेकिन 80% लोग इसके समाधान के लिए कुछ भी नहीं करते हैं। यह शर्म की बात है क्योंकि भारत में बहरेपन  का उच्च बोझ काफी हद तक रोकने योग्य और परिहार्य है। दुर्भाग्यवश श्रवण शक्ति की कमी वाले अधिकांश लोग चुपचाप से पीड़ित रहते हैं। बधिरता वाले लोगों में से केवल 20% लोग श्रवण यंत्रो से लाभान्वित हैं। जिसके फलस्वरूप, लोग अक्सर बहरेपन के अप्रिय और अस्वास्थयकर परिणामों से अनजाने में पीड़ित हो रहे हैं।

बधिरता का मुख्य प्रभाव एक व्यक्ति की संवाद करने की क्षमता पर पड़ता है। संचार से बहिष्कार रोजमर्रा की जिंदगी पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है, जिससे अकेलेपन, वियोजन और निराशा की भावनाएं पनपती हैं, खासकर बुजुर्ग लोगों के बीच, जिनमे बधिरता होती है। अनुपचारित बधिरता, डिमेंशिया और अन्य संज्ञानात्मक विकारों से भी जुडी हुई है।

दुर्भाग्यवश लोग,  शुरुवाती लक्षणों के अनुभव होने और उपचार कराने तक 5 से 7 साल तक प्रतीक्षा करते हैं। यह बहुत ही निराशाजनक है क्योंकि अक्सर बधिरता पूर्ण रूप से ठीक नहीं हो पाती। अच्छी खबर यह है कि ज्यादातर मामलों में बधिरता को ठीक किया जा सकता है। जितनी जल्दी आप बहरेपन की समस्या का उपचार करवाएंगे उतनी ही जल्दी आपकी श्रवण शक्ति वापस आने में आसानी होगी।

अपनी योग्यता जाँचने हेतु अपनी आयु का चयन करें!

प्रौद्योगिकी एक अविश्वसनीय गति से आगे बढ़ रही है, कीमतें कम हो रही हैं और श्रवण यंत्र पहले से छोटे और अधिक प्रभावी हो रहे है। एक श्रवण यंत्र समाधान प्रदान कर सकता है और आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है! आपकी श्रवण शक्ति कितनी अच्छी है? अब एक नि: शुल्क परीक्षण करें!

क्या आप 50 साल या उससे अधिक उम्र के हैं? क्या आपको कभी-कभी शोरगुल के वातावरण में भाषण समझने में परेशानी होती है? क्या आप या आपके साथी लगातार दूसरों को बात दोहराने के लिए कह रहे हैं? क्या आपको लगता है कि अन्य लोग अपने शब्दों में गड़बड़ी कर रहे हैं? जैसे ही आपको श्रवण शक्ति पर संदेह होता है, हमेशा जल्द से जल्द श्रवण शक्ति के परीक्षण कराने की सिफारिश की जाती है! यह आगे होने वाली श्रवण क्षति को रोकता है।

नए श्रवण यंत्र: पहले से छोटे और अधिक शक्तिशाली

यह ऑनलाइन सेवा, पेंशनभोगियों के लिए मुफ्त श्रवण यंत्रो के परीक्षण कराने और बहुत सारा धन बचाने में मदद करती है। क्या आप क्रांतिकारी डिजिटल श्रवण यंत्र तकनीक का परीक्षण करने में रुचि रखते हैं? अब आप श्रवण यंत्र के मुफ्त परीक्षण के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। असाधारण प्रत्यक्ष संयोजकता और बेहतरीन ध्वनि गुणवत्ता के साथ क्रांतिकारी और अदृश्य प्रौद्योगिकी का अनुभव करें।

आप मुफ्त में श्रवण यंत्र का परीक्षण कैसे कर सकते हैं?

पूरे देश के श्रवण केंद्र अब उन लोगों की तलाश में हैं जो नए क्रांतिकारी श्रवण यंत्र का लाभ उठाना चाहते हैं। लाभ उठाने के लिए कुछ आसान से प्रश्नों के उत्तर दें। योग्यता देखने के लिए नीचे अपना शहर चुनें:

चरण 2:

अगर आप योग्य है, तो कृपया अपना संपर्क विवरण दें। एक स्थानीय श्रवण मदद केंद्र आपसे संपर्क करेगा।

स्रोत:
¹ http://www.jorl.net/otolaryngology/hearing-in-india-all-aspects.pdf

² http://www.searo.who.int/LinkFiles/Publication_HEARING_&_EAR_CARE.pdf